Post view

Remedies for constipation/piles - 2

कब्ज से छूटकरा पाने के अचूक ऊपाय 

 
 
remedies for constipation and piles
 
कब्ज से बचने का सबसे सरल उपाय है की भोजन 8 बजे रात्रि के पूर्व अवश्य कर लें. अन्यथा कब्ज जीवन भर सताता रहेगा. ताज़ा भोजन करें. बहुत समय पहले का बनाया भोजन, पॅक्ड भोजन करने से बचें.
1. घृतकुमारी (aloevera) का गुदा खाएँ. ध्यान रहे पौधे से काटने के 2 घंटे बाद तक ही यह पूर्ण योग्य रहता है उसके बाद इसके सारे पौष्टिक गुण नष्ट होने लगते हैं. 
(यह प्रयोग प्रतिदिन कर सकते हैं.)

2. त्रिफला चूर्ण लें : 

रात्रि भोजन के बाद गर्म पानी से लें.
मात्रा - एक चम्मच से दो चम्मच. अगर दूध या इससे बने व्यंजन खाए हों तो ना लें. 
(इसे सप्ताह में एक ही बार करें.)
 
3. एरन्ड का तेल (कॅसटर आयिल) लें :
 एरन्ड का तेल गर्म पानी से रात्रि को सोते समय लें. इसे दूध, खीर, खिचड़ी, दाल, सब्जी, चाय...आदि किसी भी चीज़ में मिलाकर ले सकते हैं. 
(इसे सप्ताह में एक ही बार करें)
 
 
  त्रिफला और एरन्ड के प्रयोग में अंतर रखें. जैसे त्रिफला बुधवार की रात भोजन के बाद लिया तो एरन्ड का तेल रविवार की रात को लें.
 
 
4. मूँगफली का प्रयोग :
दो मुट्ठी मूँगफली रात को पानी में भिगो दें. सुबह नाश्ते की जगह इसे लें. इसमें एक-दो केला मसल दें, खजूर, किशमिश आदि सूखे मेवे मिला दें. यह एक अच्छा नाश्ता है. कभी-कभार उसमें हरी मिर्च, हरा धनिया, जीरा, काली मिर्च, नमक आदि मिलाकर भी लें सकते हैं. अपनी पसंद के अनुसार. भिगोइ हुई मूँगफली कब्ज की शत्रु है. सेंकी हुई मूँगफली कम ही खाना चाहिए उससे गॅस, कब्ज, पेट मे दर्द आदि शिकायतें होती हैं.
(यह प्रयोग प्रतिदिन किया जा सकता है.)
 
5. रात्रि को सोने से पूर्व गर्म दूध में दो-तीन चम्मच घी मिलाकर पी लें. दूध और घी गाय का ही हो तो सोने पे सुहागा. कब्ज ज़्यादा हो तो 5-6 चम्मच घी ले सकते हैं. 
(यह प्रयोग कभी-कभार ही करें.)
6. भोजन में कच्चे प्याज का प्रयोग करें. जहाँ कच्चा प्याज कब्ज को दूर करता है वहीं तला-भूना प्याज बीमारियों को जन्म देता है. इससे केवल भोजन का स्वाद भधता है और कुच्छ नहीं होता.
(यह प्रयोग प्रतिदिन किया जा सकता है.)
7. पुदीना :
रात्रि के भोजन में जैसे सब्जी, खिचड़ी, दाल आदि में कम से कम 200-300 ग्राम हरा पुदीना डालें. यह कब्ज को पूरी तरह नष्ट कर देगा.
(इसे सप्ताह में एक-दो बार ही करें)
8. मिर्च :
कब्ज अगर अधिक हो तो रात्रि के भोजन में मिर्च ज़्यादा डालें. मिर्च ज़्यादा खाना स्वास्थ्य की दृष्टि से हानिकारक है लेकिन कब्ज उससे ज़्यादा हानिकारक है इसलिए मिर्च का उपयोग कब्ज को दूर करने के लिए औषधि के तौर पर करें. रात्रि को अगर 9-9.30 बजे के बाद भोजन कर रहे हैं तो भोजन में ज़्यादा मिर्च अवश्य डालें.
9. आँवला :
आँवले का रस पीने से दूसरे लाभ तो होते ही हैं साथ ही कब्ज भी दूर होता है. आँवला हर मौसम में नहीं मिलता है. इसलिए जिस मौसम में आँवला ना मिले उस मौसम में क्या करें ?
इसके लिए पूर्व तैयारी आवश्यक है. जिस मौसम में आँवले मिले उस मौसम में उसका रस निकाल लें. उतनी मात्रा में उसमें घी मीला लें. अर्थात 500 मिली घी के लिए 500 मिली रस लें. फिर दोनों मिश्रण को उबालें. जब केवल घी शेष बचे तो उसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें. ठंडा हो जाने पर काँच की बर्नी में भर के रख दें. और जिस मौसम में आँवले ना मिले उस मौसम में इसे ले. कब्ज से छुटकारा पाने के लिए इस घी का उपयोग रात्रि में गर्म पानी से करें. मात्रा एक से दो  चम्मच आप आँवले का चूर्ण भी ले सकते हैं. 
(इसे सप्ताह में एक-दो बार ही करें)
 
10. नींबू :
प्रतिदिन सुबह एक ग्लास गरम पानी में आधा या एक नींबू निचोड़ कर लेने से कब्ज डोर होता है. इसके साथ ही शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है. शरीर और चेहरे की चमक बढ़ती है. 
(यह प्रयोग प्रतिदिन किया जा सकता है.)
 
11. घी-तेल : 
भोजन में घी तेल का उपयोग अवश्य करें. बाज़ारु रीफाइंड तेल से बचें. घी-तेल का उपयोग नहीं करनेवाले को कब्ज ज़रूर होगा. भोजन में घी-तेल अथवा मसाले का उपयोग करने से स्वास्थ्य खराब नहीं होता बल्कि इनका आवश्यकता से अधिक उपयोग करने से बीमारियाँ होती हैं. स्वाद बढ़ाने के लिए लोग घी, तेल, मसाले, मिर्च आदि का बहुत ज़्यादा मात्रा में उपयोग करते हैं जिसके कारण स्वास्थ्य खराब होता है. 
 
 
कब्ज से छुटकारा पाने के लिए बाज़ार में उपलब्ध चूर्ण या अन्य दवाई कभी भी ना लें. ये दवाइयाँ आपको जीवन भर के लिए कब्ज का रोगी बना देंगी. 
 
सभी उपाय करने के बाद भी अगर आपका कब्ज नही दूर हो रहा हो तो दान करें. जो कंजूस और स्वार्थी होते हैं, जिन्हें केवल अपनी फ़िकरा रहती है उन्हें कब्ज अवश्य होता है और ऐसा होता है की सारी दवाइयाँ, सारे उपाय असफल हो जाते हैं. उन्हें अपनी खाने-पीने की पसंद की वस्तुएँ दूसरे को दान करनी चाहिए. जैसे समोसा पसंद है अथवा लड्डू पसंद है तो ये चीज़ें ग़रीब बच्चों को, मंदिर के पास बैठे भिखारियों को, भंगियों को खाने को दें. अगर गोमता को खिला दें तो सोने पे सुहागा. चाहें कितनी दवाई करवाई हो, कितने उपाय किए हों और कब्ज जाने का नाम नहीं ले रहा हो तो इस उपाय से आपका कब्ज हमेशा के लिए दूर हो जाएगा.  

 

इस लेख का पहला भाग यहाँ पढ़ें.

admin 02.12.2016 1 421
Comments
Order by: 
Per page:
 
   Comment Record a video comment
 
 
 
     
Post info
02.12.2016 (143 days ago)
Rate
0 votes
Actions
Recommend
Categories
Business (1 posts)
Health (7 posts)
LinkedIn (5 posts)
News (3 posts)
Social Media (5 posts)
Tech News (5 posts)